Sunday, November 19, 2017
स्टडी मटेरिल

जॉब के दौरान तैयारी के लिए इंटरनेट बेहतर माध्यम

जॉब के दौरान तैयारी के लिए इंटरनेट बेहतर माध्यम
अजय अनुराग, निदेशक, विजडम आइएएस एकेडमी, दिल्ली
( मैंने बीसीए किया है और मैं जॉब भी करती हूं. मैं जानना चाहती हूं कि जॉब के साथ सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कैसे हो सकती है? 
 
-सरिता सोनी
 
जॉब के साथ तैयारी करना थोड़ा मुश्किल तो है, लेकिन नामुमकिन नहीं, क्योंकि हर साल जॉब करनेवाले अभ्यर्थी इस परीक्षा में रिजल्ट देते हैं. इसका अच्छा तरीका है कि आप इंटरनेट को अपनी तैयारी का साधन बनाएं और जब भी मौका मिले पढ़ते रहें और प्रैक्टिस भी करते रहें.
( मैंने अभी बारहवीं पास की है, मैं आइएएस बनना चाहता हूं. मैं रोज न्यूजपेपर और जनरल नॉलेज पढ़ता हूं. मुझे आगे क्या करना चाहिए? 
 
-प्रेम मनोहर
 
आप अपने लक्ष्य की दिशा में बेहतर प्रयास कर रहे हैं. इसे जारी रखें और जरूरी सूचनाओं को अपने नोटबुक में लिखते भी रहें. अभी आपको अपने क्लास की पढ़ाई पर भी खूब ध्यान देने की जरूरत है.
 
( सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए प्रतिदिन कितना और कैसे पढ़ना चाहिए? 
-उमर फारूक
 
आप प्रतिदिन कितना पढ़ते हैं, से ज्यादा महत्वपूर्ण सवाल है आप क्या और कैसे पढ़ते हैं? इसके लिए आप परीक्षा के सिलेबस को अपना आधार बना सकते हैं. प्रत्येक विषय पर एक या दो किताबें ही पढ़ें, लेकिन अच्छी तरह से और उसके बाद प्रैक्टिस करके स्वमूल्यांकन भी करें. यदि सवाल बनते हैं, तो आपने ठीक से पढ़ा है, वरना नहीं पढ़ा.
 
( क्या प्रीलिम्स और मेंस दोनों में मैथ्स के सवाल होते हैं? मेरा वैकल्पिक विषय इतिहास है, तो क्या मुझे कोई समस्या होगी?-हम्ज़ा
सिविल सेवा परीक्षा के केवल प्रीलिम्स के सीसैट पेपर में ही मैथ्स के सवाल होते हैं और वहां भी यह बहुत कठिन नहीं होता, बल्कि इस पेपर में आपको बस क्वालिफाइ करना है. अतः मैथ्स को लेकर बहुत परेशान न हों.
 
( क्या सिविल इंजीनियरिंग करके आइएएस की परीक्षा में शामिल हुआ जा सकता है? वहां इसका कोई लाभ मिलेगा? -राहुल
हां, आप आइएएस की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं और यह विषय इस परीक्षा में वैकल्पिक विषय के रूप में उपलब्ध भी है.
( मैं बीसीए करना चाहती हूं, लेकिन मुझे आइएएस की परीक्षा में बैठना है. मेरे लिए क्या ठीक होगा या फिर मुझे जियोग्राफी ऑनर्स करना चाहिए? 
 
-सरोज कुमारी
 
आप बीसीए करके भी आइएएस की परीक्षा दे सकती हैं, लेकिन वहां इसका बहुत लाभ नहीं मिलेगा, जबकि मानविकी विषयों से ऑनर्स करना इस परीक्षा के लिए फायदेमंद है.