Saturday, December 15, 2018
ओपिनियन

स्पोर्ट्स में है रुझान तो बीपीएड है बेहतर

स्पोर्ट्स में है रुझान तो बीपीएड है बेहतर

 Qमैं बारहवीं कर चुकी हूं. मेरी रुचि खेलों में है, आगे मैं बीपीएड करना चाहती हूं. मेरी समझ में नहीं आ रहा है कि इसकी पढ़ाई किस कॉलेज से करूं. बीपीएड की पढ़ाई करानेवाले कुछ प्रतिष्ठित संस्थानों के बारे में विस्तार से बताएं.

-वीना रानी सोरेन
 
बीपीएड (बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन) एक तीन वर्षीय ग्रेजुएशन कोर्स है. इस कोर्स में प्रवेश के लिए आपका 12वीं पास होना और कम-से-कम 17 वर्ष की आयु का पूरा होना आवश्यक है. इसमें प्रवेश के लिए आपको टेस्ट पास करना होगा. फिजिकल फिटनेस टेस्ट, अकादमिक टेस्ट (इंग्लिश व सामान्य ज्ञान) और गेम/ स्पोर्ट्स प्लेइंग एबिलिटी टेस्ट इन तीनों को पास करने के बाद एडमिशन मिलता है. इस कोर्स के लिए बहुत से अच्छे संस्थान हैं. कुछ उदाहरण- दिल्ली यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आनेवाला कॉलेज इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स साइंसेज, नयी दिल्ली, यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, बैंगलोर यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु, बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू), वाराणसी, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी, इलाहाबाद.
 
Q मैं 11वीं विज्ञान वर्ग की छात्रा हूं. मैं आईआईटी इंजीनियर बनना चाहती हूं. इसी वर्ष जेईई मेंस के लिए क्वाॅलीफाई करना चाहती हूं. क्या 12वीं की पढ़ाई के साथ जेईई मेंस की तैयारी करना सही रहेगा?  
-कविता
 
अगर आपने अपना लक्ष्य आईआईटी निर्धारित कर लिया है, तो आधा काम हो गया. मन के हारे हार है, मन के जीते जीत. इसलिए एक बात हमेशा याद रखें कि जितने भी लोग सफल लोग हुए हैं, उनमें और आपमें एक समानता है, और वह है एक दिन में मिलनेवाले 24 घंटे. लेकिन, अंतर अगर कुछ है, तो उस समय का उपयोग. अगर आप एनसीईआरटी की अपनी 11वीं और 12वीं की पुस्तक से पूरी तरह से तैयारी कर लें, तो आपका सपना पूरा हो सकता है. आप पिछले वर्षों के कुछ पेपर को समयबद्ध तरीके से हल करके अपनी तैयारी को बीच-बीच में चेक करते रहें, तो बेहतर होगा. छह घंटे सोने और एक घंटे खेलने, एक घंटे सामान्य ज्ञान में लगाने के अलावा दो घंटे दिनचर्या और आने जाने के बाद बचे बाकी समय का उपयोग सिर्फ पढ़ाई में कर लें, तो आपको सफलता मिल सकती है. आप इसमें अपनी टीचर्स, फ्रेंड्स, सीनियर्स से मार्गदर्शन और मदद ले सकते हैं.
 
Qमैं हर दिन सोचती हूं कि आज यह पक्का कर लूंगी कि तैयारी कैसे करूं. यह तय ही नहीं हो पा रहा कि इसको आगे कैसे ले जाऊं. मुझे तैयारी कैसे करनी चाहिए?  
-दीक्षा कुमारी
आपको सबसे पहले अपने लक्ष्य को पेपर पर डिटेल में लिखना चाहिए. एक बार नहीं, कम-से-कम दस बार. पहली बार के बाद हर बार आपको अपने लक्ष्य को और ध्यान से समझने का मौका मिलेगा. दसवीं बार के बाद आपको क्लैरिटी मिलेगी कि आप करना क्या चाहते हैं. उसके बाद लक्ष्य को हासिल करने से होनेवाले लाभ को भी दस बार लिखे. अंत में लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी उपाय भी दस बार लिखें, तब अपना लक्ष्य सभी परिवार वालों और मित्रों को बतायें. फिर अपनी दिनचर्या को निर्धारित करें. आपका परिवार और मित्र आपको इसमें बहुत सहयोग करेंगे, लेकिन सबसे पहले आपको अपना मन पक्का करना होगा. ऑल द बेस्ट.
Qमैंने अभी बीए इतिहास फाइनल परीक्षा दिया है. इसके बाद कौन सा कोर्स करना बेहतर रहेगा.
 
-सत्येंद्र कुमार
 
इतिहास से ग्रेजुएशन करने के बाद आपके लिए जॉब और आगे पढ़ाई के बहुत से विकल्प उपलब्ध हैं. इनमें से आपको अपनी रुचि के अनुसार ही चुनाव करना चाहिए. आपके लिए सिविल सर्विसेज (जोकि सरकारी सेवा है), आर्मी या अन्य कोई भी जॉब, जिसके लिए ग्रेजुएशन का होना जरूरी है, सभी के लिए आप कोशिश कर सकते हैं. इन सभी के लिए तैयारी करनी होगी. इसके अलावा आप बीएड करके या एमए से लेकर पीएचडी तक हिस्ट्री से करके आप टीचिंग के क्षेत्र में कैरियर बना सकते हैं. इसके अलावा अगर आपकी रुचि मीडिया में है,
 
तो आप पीजी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म/ मास कम्युनिकेशन करके मीडिया में प्रिंट/ इलेक्ट्रॉनिक/ इंटरनेट या रेडियो में कैरियर बना सकते हैं.
बीपीएड फिजिकल फिटनेस टेस्ट, अकादमिक और गेम/ स्पोर्ट्स प्लेइंग एबिलिटी टेस्ट इन तीनों को पास करने के बाद एडमिशन 
मिलता है