Saturday, December 15, 2018
ओपिनियन

सिविल सेवा में स्कोरिंग हैं साहित्यिक विषय

सिविल सेवा में स्कोरिंग हैं साहित्यिक विषय

 Qमैं इंजीनियरिंग (इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांच) में ग्रेजुएट हूं. मैं जानना चाहती हूं कि मेरे लिए कौन-सा विषय ठीक रहेगा? साहित्य में अंग्रेजी और हिंदी में से कौन बेहतर होगा? क्या मैं अपना विषय रख सकती हूं? 

-स्नेहा कुमारी
 
यदि आपको अपने विषय पर कमांड है, तो सबसे बेहतर तो वही रहेगा, वरना आप मानविकी विषयों में से किसी एक का चयन कर सकती हैं. साहित्य पेपर की दृष्टि से किसी भी भाषा का साहित्य बेहद अंकदायी होता है, अतः आप किसी का भी चयन कर सकती हैं.
Qइतिहास और भारतीय राजव्यवस्था के लिए कुछ उपयोगी पुस्तकों के 
नाम बताएं?
 
-नितेश बरनवाल
 
भारतीय इतिहास के लिए एनसीईआरटी की कक्षा छठीं से 12वीं तक की पुस्तकें, झा एवं श्रीमाली, सतीश चंद्र, बिपिन चंद्र, स्पेक्ट्रम बुक का आधुनिक भारत का संक्षिप्त इतिहास, भारतीय कला और संस्कृति के लिए स्पेक्ट्रम द्वारा प्रकाशित नितिन सिंघानिया की पुस्तक आदि. राजव्यवस्था पर एनसीईआरटी की पुस्तकें और एम लक्ष्मीकांत की पुस्तक भारत की राजव्यवस्था पर्याप्त होंगी.
Qमैंने बीसीए की पढ़ाई 2016 में पूरी की है. क्या मैं यूपीएससी की तैयारी कर सकता हूं? वैकल्पिक विषय के रूप में मुझे कौन-सा पेपर रखना चाहिए? 
 
-राजीव
 
हां, आप यूपीएससी की परीक्षाओं में शामिल हो सकते हैं. वैकल्पिक विषय के चयन के लिए आप अपनी पसंदीदा विषयों की सूची बनाकर उनके सिलेबस और रिजल्ट को देखें, फिर कोई निर्णय लें.
Qमैंने इस वर्ष आईएससी (गणित) पास की है. मैं भविष्य में आईएएस अधिकारी बनना चाहता हूं. कृपया मुझे इसके लिए उपयोगी पुस्तकों सूची दें और मेरा मार्गदर्शन करें. 
- अनोज कुमार
यूपीएससी की तैयारी के लिए आपको कई पुस्तकों के अध्ययन की जरूरत पड़ेगी और यहां उन सभी पुस्तकों की सूची देना संभव नहीं, अतः आप मुझे अलग से ईमेल करें।
Qमैं इग्नू से डिस्टेंस लर्निंग के जरिये बीए (हिंदी) कर रहा हूं. क्या मैं बीपीएससी और यूपीएससी का एग्जाम दे सकता हूं? क्या हिंदी विषय स्कोरिंग विषय है? 
 
-अभिजीत कुमार
हां, आपकी डिग्री सभी परीक्षाओं के लिए मान्य है. आपने विषय भी अच्छा लिया है, क्योंकि सिविल सेवा परीक्षा की दृष्टि से हिंदी साहित्य काफी स्कोरिंग विषय है.
 
सिविल सेवा परीक्षा की दृष्टि से हिंदी साहित्य काफी लोकप्रिय विषय रहा है.
अजय अनुराग, निदेशक, विजडम आइएएस एकेडमी, दिल्ली