Monday, October 22, 2018
ओपिनियन

इंटरव्यू के लिए व्यक्तित्व विकास पर दें ध्यान

इंटरव्यू के लिए व्यक्तित्व विकास पर दें ध्यान

 सर, क्या आईएएस के इंटरव्यू के लिए भी कोई सिलेबस होता है? कृपया मार्गदर्शन करें

विक्की अल्ताफ टार्सन

इंटरव्यू का विस्तृत सिलेबस तो नहीं है, लेकिन यह एक व्यक्तित्व परीक्षण है, जिसके माध्यम से किसी अभ्यर्थी की सिविल सेवा के प्रति अभिरुचि, बुद्धिमत्ता और निर्णयन-क्षमता आदि को जांचने-परखने का प्रयास किया जाता है. 

मैं अभी इग्नू से पोलिटिकल साइंस से ग्रेजुएशन कर रहा हूं. क्या सिविल सर्विसेज एग्जाम के लिए यह विषय अंकदायी रहेगा?- चुर्का बेसरा

हां, यह विषय हिंदी माध्यम की तुलना में अंग्रेजी माध्यम में अपेक्षाकृत अधिक अंकदायी रहा है. अतः यदि आपका माध्यम अंग्रेजी है, तो इसे जरूर रखें.

 मैं अभी बीए कर रहा हूं और आगे सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से आईपीएस बनना चाहता हूं. कृपया मुझे इसकी तैयारी के संबंध में जानकारी दें.

- कृष्णा

आईपीएस के लिए कोई अलग से परीक्षा नहीं होती, बल्कि यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से ही आप उसमें शामिल हो सकते हैं. अतः उसकी तैयारी के लिए मेरे बताये गये सुझावों को पढ़ते रहें.

मैं बीपीएससी की तैयारी करना चाहती हूं. इसके लिए स्टडी मटीरियल किस कोचिंग से लिया जा सकता है? इसकी तैयारी में कितना खर्च आयेगा? कृपया मार्गदर्शन करें.- रंजना

स्टडी मटीरियल के लिए आप हमें मेल कर सकती हैं और इसके अलावा आप विभिन्न वेबसाइट्स की भी सहायता ले सकती हैं. बुक्स और स्टडी मटीरियल दोनों को मिलाकर दस हजार के आस-पास खर्च हो सकते हैं. 

मैंने अपना मैट्रिक बिहार बोर्ड से किया है, जिसमें मैं अंग्रेजी विषय में फेल हो गया था. क्या आईएएस की परीक्षा में कोई समस्या आयेगी?

- निखिल कुमार

नहीं, इससे कोई समस्या नहीं होगी, क्योंकि आईएएस परीक्षा के लिए आपका स्नातक होना पर्याप्त है. अतः आप किसी भय या कुंठा में बिलकुल न रहें.

बीपीएससी परीक्षा के लिए भारतीय राजव्यवस्था के लिए कौन-सी पुस्तक अच्छी होगी? वैकल्पिक विषय इतिहास के लिए भी कुछ पुस्तकों की सूची दें.

- प्रवीण कुमार

भारतीय राजव्यवस्था के लिए एम लक्ष्मीकांत की पुस्तक अच्छी है. इसके अतिरिक्त एनबीटी की पुस्तकें भी उपयोगी हैं. इतिहास की पुस्तकों के लिए विश्वविद्यालय स्तर की पुस्तकों का अध्ययन उचित रहेगा.

मैं बीकाॅम प्रथम वर्ष का छात्र हूं और आगे मैं सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होना चाहता हूं. मेरा ऑनर्स पेपर अकाउंटेंसी है, क्या मैं इसे वैकल्पिक विषय के रूप में रख सकता हूं?

- आकिब अंसारी

हां, आप इसे वैकल्पिक विषय के रूप में रख सकते हैं और यह अंकदायी भी है.

आप भी सिविल सर्विसेज से संबंधित अपने सवाल हमें इमेल कर सकते हैं-awsar@prabhatkhabar.in

संगीत में निपुणता के लिए रियाज जरूरी

मैं संगीत से डिस्टेंस कोर्स करना चाहती हूं. इसके लिए मुझे कुछ ओपन यूनिवर्सिटी के नाम बताएं. 

-श्रुति गुप्ता

संगीत पढ़ने से ज्यादा प्रैक्टिस यानी रियाज और समझने की विद्या है, इसलिए इसमें निपुण होने के लिए निरंतर अभ्यास जरूरी है. लेकिन अगर कोई मजबूरी है, तो आप http://www.ignou.ac.in (इंडिया गांधी ओपन यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर जाकर कोर्स का चुनाव कर सकती हैं. इसके साथ आपको प्रैक्टिकल जरूर करना होगा. संगीत कैरियर में सिर्फ थ्योरी से कुछ लाभ नहीं होगा, अच्छे कैरियर के लिए प्रैक्टिकल बहुत ही आवश्यक होता है.

 मैं आर्ट्स स्ट्रीम की छात्रा हूं. मैंने 57 प्रतिशत अंकों के साथ 12वीं पास की है. क्या मैं इंटीरियर डिजाइनिंग में कैरियर बना सकती हूं. कृपया मेरा मार्गदर्शन करें. -नेहा आर्या

बीएफए (बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स) चार वर्षीय प्रोफेशनल कोर्स है. इसके तहत इंटीरियर डिजाइनिंग में स्पेशलाइजेशन करने के लिए 12वीं विज्ञान विषयों के साथ कम-से-कम 55 प्रतिशत अंकों में पास करना जरूरी है. कुछ संस्थान इंटीरियर डिजाइनिंग में तीन वर्ष का बीएससी कोर्स भी कराते हैं. कुछ प्राइवेट संस्थानों द्वारा इंटीरियर डिजाइनिंग में सर्टिफिकेट्स और डिप्लोमा कोर्स कराया जाता है, जिसके लिए साइंस की पढ़ाई अनिवार्य नहीं होती. इस तरह के संस्थान कमोबेस हर शहर में उपलब्ध हैं. कुछ इंस्टीट्यूट्स बीए इंटीरियर डिजाइन भी कराते हैं, लेकिन उनकी विश्वसनीयता के बारे में कुछ कहना मुश्किल है.

  मैं पीसीबी विषयों के साथ 12वीं कर रही हूं. आगे मैं माइथोलॉजी में कैरियर बनाना चाहती हूं. कृपया मेरा मार्गदर्शन करें. -स्नेहा गुप्ता

माइथोलॉजी में कैरियर बनाने के लिए साइंस की नहीं, आर्ट्स और लिटरेचर की पढ़ाई की आवश्यकता होती है. अगर आपकी रुचि इसमें है, तो आप भाषा का चुनाव करके आर्ट्स से आगे की पढ़ाई करें, जैसे- लिटरेचर, हिस्ट्री, फाइन आर्ट्स आदि. इस क्षेत्र में कई प्रकार के कैरियर विकल्प आपके लिए उपलब्ध हैं. उनकी जानकारी प्राप्त करने के बाद ही आगे की पढ़ाई के बारे में निर्णय लें. आप लेखक के रूप में मीडिया के लिए या अपनी किताब लिखकर कैरियर बना सकते हैं. इतिहासकार के रूप में आप इतिहास में शोध कर सकते हैं और अपने शोधपत्रों को प्रकाशित कर सकते हैं. आप देश-विदेश की माइथोलॉजी को आधार बना कर उसमे शोध करके एक्सपर्ट के रूप में कैरियर बना सकते हैं, इसके अलावा टीचिंग जैसा कैरियर भी उपलब्ध है.

मैं केमिस्ट्री से बीएससी ऑनर्स से कर रहा हूं. साथ में यदि दो वर्षीय डीएलएड करूं, तो क्या मेरा बीएससी कोर्स मान्य होगा? क्या मैं दोनों डिग्री एक साथ उपयोग कर सकता हूं. कृपया मुझे उचित सलाह दें? 

-राज वत्स

आप दो ग्रेजुएशन की रेगुलर डिग्री की पढ़ाई एक साथ न करें, क्योंकि यह वैध नहीं होगा. बेहतर होगा कि यदि आप डिग्री के साथ कोई डिप्लोमा कोर्स पार्ट टाइम या डिस्टेंस से कर लें. तब आप दोनों का प्रयोग अपने कैरियर में कर सकेंगे. यह आपको मजबूत कैरियर बनाने में मददगार होगा.

 मैं बीकाॅम पार्ट टू में हूं. टीचिंग में कैरियर बनाने के लिए आगे क्या करना चाहिए. कृपया मार्गदर्शन करें. 

- हेमा भारती

आप ट्यूटर के रूप में ट्यूशन देना शुरू कर सकते हैं. लेकिन, स्कूल या कॉलेज में बतौर शिक्षक कैरियर शुरू करने के लिए आपको बीएड करना होगा. आपको कोई भी टीचिंग कोर्स के लिए दो साल लगाने पड़ेंगे, उसके बाद ही प्रोफेशनल टीचर के तौर पर आपका कैरियर शुरू हो सकता है.

मैंने पीसीएम से 65 प्रतिशत अंकों के साथ बारहवीं पास की है. दिल्ली विश्वविद्यालय से बीबीए करना चाहता हूं. क्या डीयू में यह कोर्स होता है? इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया क्या है. बीबीए करानेवाले कुछ और संस्थानों के बारे में बताएं. -गौरव

दिल्ली विश्वविद्यालय से बीबीए कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है. ज्वाइंट एडमिशन टेस्ट नाम की यह प्रवेश परीक्षा अमूमन जून माह में होती है. बीबीए के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी से संबद्ध शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज एक बेहतर विकल्प है. अधिक जानकारी के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी की वेबसाइट http://www.du.ac.in पर जायें.