Saturday, December 15, 2018
जॉब्स

टूरिज्म और हॉस्पिटेलिटी संभावनाओं का उभरता क्षेत्र

टूरिज्म और हॉस्पिटेलिटी संभावनाओं का उभरता क्षेत्र

 देश में पर्यटन क्षेत्र में संभावनाएं लगातार बढ़ रही हैं. आनेवाले वर्षों में पर्यटन और इससे संबंधित क्षेत्रों में लाखों की संख्या में नौकरियों के आने का दावा किया जाता रहा है. जिस तेजी से यह इंडस्ट्री विकास कर रही है, उसके अनुरूप प्रशिक्षित कार्यबल की आपूर्ति नहीं हो पा रही है, ऐसे में प्रोफेशनल कोर्स कर आनेवाले युवाओं के लिए निकट भविष्य में यहां न केवल भरपूर संभावनाएं मौजूद होंगी, बल्कि कैरियर ग्रोथ के लिए भी मौकों की कमी नहीं होगी.

वर्ल्ड ट्रेवेल एंड टूरिज्म काउंसिल (डब्ल्यूटीटीसी) की हालिया रिपोर्ट बताती है कि 2028 यानी अगले 10 वर्षों में ट्रेवेल इंडस्ट्री को एक करोड़ प्रोफेशनल की दरकार होगी. भारत दुनिया की सातवीं सबसे बड़ी ट्रेवेल व टूरिज्म इकोनॉमी है. देश की अर्थव्यवस्था में इस इंडस्ट्री का 15.2 ट्रिलियन रुपये (9.4 प्रतिशत) का योगदान है. दावा किया जा रहा है कि 2028 तक यह आंकड़ा 32 ट्रिलियन को पार कर जायेगा. सालाना देसी-विदेशी पर्यटकों की बढ़ती संख्या टूरिज्म व हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में उम्मीदों को मजबूत कर रही है.

कैरियर विकल्पों की नहीं है कमी
 
टूरिज्म और हॉस्पिटेलिटी में यूजी और पीजी स्तर की पढ़ाई करके आनेवाले युवाओं के लिए ट्रेवेल एजेंसी, कस्टमर सर्विस, इंटरनेशनल व डोमेस्टिक एयरपोर्ट्स, टूर ऑपरेटर, इवेंट मैनेजर, हॉलिडे कंसल्टेंट, क्रूज, एयरलाइंस, सरकारी व गैरसरकारी पर्यटन संस्थाओं में भरपूर मौके हैं. टूरिज्म और हॉस्पिटेलिटी कोर्स कर आनेवालों के लिए टूरिज्म इंड्स्ट्री के अलावा एयरलाइंस, होटल, ट्रांसपोर्टेशन आदि विभागों में भी मौके हैं.
 
किन कोर्सेज में ले सकते हैं प्रवेश
 
टूरिज्म और हॉस्पिटेलिटी में स्नातक और परास्नातक स्तर की पढ़ाई देश के तमाम विश्वविद्यालयों और प्रतिष्ठित संस्थानों से की जा सकती है. इसके अलावा डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स जैसे तमाम शॉर्टटर्म कोर्सेस के माध्यम से भी इस इंडस्ट्री में दाखिल हुआ जा सकता है. इंडस्ट्री में प्रवेश करने के बाद अनुभव और कम्युनिकेशन, मैनेजमेंट जैसे स्किल से तेजी से तरक्की की जा सकती है. टूरिज्म मैनेजमेंट, टूर ऑपरेशन, एयरलाइंस मैनेजमेंट, ट्रेवेल एडमिनिस्ट्रेशन में स्पेशलाइजेशन कर अच्छे कैरियर की नींव रखी जा सकती है.
एमएससी हॉस्पिटेलिटी एडमिनिस्ट्रेशन में प्रवेश का मौका
 
नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय द्वारा संयुक्त रूप से एमएससी (हॉस्पिटेलिटी एडमिनिस्ट्रेशन) में प्रवेश का मौका दिया जा रहा है. दोनों प्रतिष्ठित संस्थानों द्वारा संयुक्त रूप से लांच किये गये एमएससी कोर्स में मुख्य रूप से सर्विस सेक्टर पर फोकस किया गया है, जबकि अमूमन, एमबीए प्रोग्राम में मर्चेंडाइज और मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस पर फोकस किया जाता है. इस कोर्स के लिए चयनित छात्र इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट के विभिन्न कैंपसों (एनसीएचएम-आईएस, नोएडा, नयी दिल्ली (पूसा), बेंगलुर, चेन्नई, लखनऊ और कोलकाता) से एमएससी की पढ़ाई कर सकेंगे.
 
योग्यता : एनसीएचएमसीटी-इग्नू से बीएससी (हॉस्पिटेलिटी व होटल एडमिनिस्ट्रेशन) डिग्री या किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से होटल मैनेजमेंट में स्नातक छात्र इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं. अर्हता परीक्षा के अंतिम वर्ष में शामिल हो रहे छात्र भी आवेदन के लिए पात्र हैं, बशर्ते, 31 अक्तूबर, 2018 से पहले योग्यता प्राप्त कर लेने का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा.
 
चयन प्रक्रिया : एनसीएचएमसीटी-इग्नू से बीएससी (हॉस्पिटेलिटी व होटल एडमिनिस्ट्रेशन) या न्यूनतम 55 प्रतिशत अंकों के साथ मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से बीएससी (होटल मैनेजमेंट) के साथ होटल इंडस्ट्री में कम-से-कम दो वर्ष का अनुभव रखनेवाले छात्र सीधे प्रवेश के लिए पात्र होंगे. इसके अलावा इंडस्ट्री द्वारा प्रायोजित छात्रों के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा में शामिल होने की अनिवार्यता नहीं होगी. इसकी विस्तृत जानकारी वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है. शेष अन्य छात्रों को संयुक्त प्रवेश परीक्षा में शामिल होना होगा.
 
लिखित परीक्षा का प्ररूप : देश के छह इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैंपसों (बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली (पूसा), कोलकाता, लखनऊ और मुंबई) में 19 मई, 2018 को लिखित परीक्षा आयोजित की जायेगी. लिखित परीक्षा में 100 बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न पूछे जायेंगे. इसमें स्नातक स्तर के सामान्य प्रश्न, सामान्य ज्ञान, सामान्य अंग्रेजी, न्यूमेरिक एप्टीट्यूड से संबंधित प्रश्न शामिल होंगे. प्रत्येक प्रश्न के सही जवाब पर एक अंक दिये जायेंगे और गलत जवाब पर एक चौथाई अंकों की कटौती कर ली जायेगी.
 
कैसे करें आवेदन : इच्छुक छात्रों को एडमिशन पोर्टल www.thims.gov.in या काउंसिल के पोर्टल www.nchm.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आवेदन की प्रति और आवेदन शुल्क के डिमांड ड्रॉफ्ट (सामान्य/ ओबीसी के लिए 900 रुपये, एससी/ एसटी/ पीडी के लिए 450 रुपये) के साथ एनसीएचएमसीटी, नोएडा के पते पर 30 अप्रैल, 2018 से पहले भेजना होगा.
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि : 25 अप्रैल, 2018
 
आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि : 30 अप्रैल, 2018.
प्रवेश परीक्षा तिथि : 19 मई, 2018.
 
अन्य जानकारी के लिए देखें : http://www.thims.gov.in/IMSAdmission NotificationInstruction.htm?41