Tuesday, August 21, 2018
एग्जाम

एमबीबीएस के लिए शुरू हुए आवेदन स्ट्रैटजी के साथ तैयारी को करें आसान

एमबीबीएस के लिए शुरू हुए आवेदन स्ट्रैटजी के साथ तैयारी को करें आसान

 इन टॉपिक्स पर दें विशेष ध्यान

बॉटनी : बायोलॉजिकल क्लासिफिकेशन, मॉर्फोलॉजी ऑफ फ्लोरिंग प्लांट्स, सेल, द यूनिट ऑफ लाइफ एंड प्लांट फिजियोलॉजी, रिप्रोडक्शन इन ऑर्गेनिज्म, सेक्सुअल रिप्रोडक्शन इन फ्लोरिंग प्लांट्स, प्रिंसिपल ऑफ इनहेरिटेंस एंड वेरिएशन, मॉलिक्यूलर बेसिस ऑफ इनहेरिटेंस, इकोसिस्टम, एनवायरोमेंटल इश्यू.

जूलॉजी : ह्यूमन रिप्रोडक्शन, इवोल्यूशन, बायोटेक्नोलॉजीः प्रिंसिपल्स एंड प्रॉसेस, बायोटेक्नोलॉजीः एप्लीकेशंस, बायोमॉलिक्यूल्स, ब्रेथिंग एंड एक्सेंज ऑफ गैसेस, बॉडी फ्लूइड्स एंड सर्कुलेशन, न्यूरल कंट्रोल एंड कॉर्डिनेशन, एक्सेटॉरी प्रोडक्ट्स एंड देयर एलिमिनेशन, केमिकल कोऑर्डिनेशन एंड इंटीग्रेशन.

फिजिक्स : मेकेनिक्स, थर्मोडायनेमिक्स, रे डायग्राम, ऑप्टिक्स, वेव, एसएचएम, वेव ऑप्टिक्स, मॉडर्न फिजिक्स, सेमी-कंडक्टर, इलेक्ट्रो मैग्नेटिज्म.

केमिस्ट्री : मोल कॉन्सेप्ट, एटोमिक स्ट्रक्चर, पेरिओडिसिटी इन प्रॉपर्टीज, केमिकल बॉन्डिंग, फिजिकल केमिस्ट्री-सभी फॉर्मूला को अच्छे से याद कर रिवाइज करते रहें. ऑर्गेनिक केमिस्ट्री के सभी रिएक्शन को अच्छे से याद कर रिवाइज करते रहें. ऑर्गेनिक कंवर्सेशन की प्रैक्टिस, इन-ऑर्गेनिक केमिस्ट्री के लिए एनसीईआरटी की किताब को अच्छे से पढ़ लें. सभी एक्सरसाइज क्वैश्चन को एक बार अच्छे से रिवाइज कर लें.

एन्वायर्नमेंट केमिस्ट्री : केमिस्ट्री, बायोमॉलिक्यूल्स, पॉलिमर्स, सर्फेस केमिस्ट्री, हाइड्रोकॉर्बन्स, अल्डेहाइड, किटोंस, इक्विलिब्रियम, इलेक्ट्रोकेमिस्ट्री, पी-ब्लॉक, को-ऑर्डिनेशन केमिस्ट्री.

मेडिकल इंडस्ट्री में हैं बेहतरीन संभावनाएं

आज के समय में मेडिकल इंडस्ट्री में कैरियर की बेहतरीन संभावनाएं मौजूद हैं. जिस रफ्तार से छोटे-बड़े शहरों में अस्पताल खुल रहे हैं, मेडिकल डिग्रीधारी युवाओं के लिए काफी बेहतरीन मौके उपलब्ध हो रहे हैं. मेडिकल के क्षेत्र में काफी अच्छे विकल्प मौजूद हैं. मेडिकल में कई डिग्री मौजूद है. एमबीबीएस या बीडीएस डिग्री हासिल करने के बाद आप डॉक्टर बन सकते है. इसमें मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद विशेषज्ञता हासिल कर एक्सपर्ट डॉक्टर बन सकते हैं. इसके अलावा मेडिकल लाइन में नर्सिंग, पारामेडिकल, फार्मेसी जैसे भी कई कोर्स उपलब्ध हैं, जिन्हें करने के बाद आप मेडिकल लाइन में बेहतर कैरियर बना सकते हैं. इसके अलावा होम्योपैथी और आयुर्वेद में भी कोर्स कर मेडिकल लाइन में एंट्री कर सकते हैं. मेडिकल लाइन में कोर्स के लिए साइंस (खासकर बायोलॉजी) विषय के साथ बारहवीं पास करना अनिवार्य है.

इन जगहों पर मिलेगी नौकरी

मेडिकल का क्षेत्र काफी बड़ा है. समय के साथ इसका और ज्यादा विस्तार होता जा रहा है. इस फील्ड में कैरियर बनाने के कई बेहतरीन मौके है. मेडिकल फील्ड में अलग-अलग विभागों में अच्छे पदों पर नौकरी कर सकते हैं. इनमें सरकारी एवं हॉस्पिटल, रिसर्च एवं ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, फार्मेसी, मेडिकल कॉलेज, क्लीनिक आदि शामिल हैं.

प्रमुख संस्थान

ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स), नयी दिल्ली, पटना, भोपाल, जोधपुर, भुवनेश्वर, ऋषिकेश, रायपुर, गुंटुर, नागपुर.

पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, पटना.

 नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, पटना.

 दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, दरभंगा, बिहार.

क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज.

 आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज (एएफएमसी), पुणे.

मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, नयी दिल्ली.

जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ग्रेजुएट मेडिकल 

एजुकेशन एंड रिसर्च (जेआईपीएमईआर), पांडिचेरी.

< लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नयी दिल्ली.