Sunday, November 19, 2017
इंजीनियरिंग

इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स 10 सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन, बेहतरीन स्टार्टअप पायेंगे करोड़ों का फंड

इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स 10 सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन, बेहतरीन स्टार्टअप पायेंगे करोड़ों का फंड

लाइफ रिपोर्टर  @ रांची

life.ranchi@prabhatkhabar.in

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग और टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स मिल कर इनोवेशन चैलेंज डिजाइन कांटेस्ट-2017 का आयोजन कर रहे हैं. उम्मीदवार 10 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं. यह प्रतियोगिता सभी ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और डॉक्टरेट की डिग्री धारक इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों के लिए है. इसमें विद्यार्थियों को अपना आइडिया, प्रोडक्ट डिजाइन अादि भेजना होगा. यदि उम्मीदवार द्वारा भेजी गयी डिजाइन चयनित हो जाती है, तो टेक्सास इंस्ट्रूमेंट की ओर से तकनीकी सपोर्ट, आइआइएमबी की ओर से बिजनेस मेंबरशिप और 3.8 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद दी जायेगी.

मिलेगा 200 डॉलर का इक्वीपमेंट

इससे स्टूडेंट्स को प्रोडक्ट डिजाइन, इन्क्यूबेट और लांच करने में मदद मिलेगी. टेक्सास इंस्ट्रूमेंट की ओर से हर टीम को 200 डॉलर का इक्वीपमेंट दिया जायेगा. इस इक्वीपमेंट का उपयोग हर हाल में टीम को करना होगा. उम्मीदवारों को अपनी इंट्री ऑनलाइन भेजनी होगी. इस प्रतियोगिता से संबंधित विस्तृत जानकारी www.innovate.mygov.in पर ली जा सकती है.

पांच चरणों में होगी प्रतियोगिता

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग व टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स द्वारा आयोजित इस प्रतियोगिता में सफल होने के लिए पांच चरणों की प्रक्रिया से गुजरना होगा. पहला फेज क्वालिफाइंग राउंड होगा. यह जुलाई से सितंबर के बीच होगा. इस राउंड में विद्यार्थियों के प्रवेश को बिजनेस पोटेंशियल और टेक्निकल इनोवेशन के आधार पर चयनित किया जायेगा. पहले फेज में चुनी हुई टीम को अपना डिटेल्ड प्रपोज्ड डॉक्यूमेंट भेजना होगा. इन टीम को आइआइएम बेंगलुरु के एक्सपर्ट मेंटर करेंगे.

यह राउंड अक्तूबर से नवंबर से बीच होगा. यहां से शॉर्टलिस्ट की गयी टीम का नाम 30 नवंबर तक जारी किया जायेगा. इसके बाद क्वार्टर फाइनल राउंड होगा. इसमें टीम को अपने आइडिया को एक हार्डवेयर प्रोटोटाइप की शक्ल देनी होगी. इसके लिए उन्हें इंस्ट्रूमेंट भी दिये जायेंगे. स्टूडेंट्स को अपने प्रोडक्ट की प्रोजेक्ट रिपोर्ट और वीडियो डेमो 30 अप्रैल 2018 तक भेजना है. इसके बाद सेमी फाइनल राउंड होगा. यह मई 2018 से जून 2018 तक चलेगा. इसमें टीम को लाइव डेमो के लिए बुलाया जायेगा. शॉर्ट लिस्टेट टीम का नाम 30 जून तक घोषित होगा. अंतिम राउंड फाइनल राउंड होगा. यह जुलाई से अगस्त 2018 तक होगा. फाइनल टीम को डीएसटी की ओर से फंड दिया जायेगा. इससे वे फिल्ड टेस्टिंग व प्रोटोटाइपिंग कर सकेंगे. इसमें जो टीम सेलेक्ट होगी, उन्हें फंड मिलेगा.