Tuesday, February 21, 2017
इंजीनियरिंग

नाटा -2017 : बनें अपने कैरियर के आर्किटेक्ट

नाटा -2017 : बनें अपने कैरियर के आर्किटेक्ट

यदि आपको बड़ी-बड़ी इमारतें आकर्षित करती हैं और आप उनकी संरचना को समझने में रुचि रखते हैं, तो आर्किटेक्चर को कैरियर के रूप में अपना सकते हैं. निर्माण कार्य से जुड़ी कल्पनाओं को आयाम देनेवाला यह क्षेत्र रोजगार के ढेरों अवसर प्रदान करता है. अार्किटेक्ट के रूप में प्राइवेट एवं सरकारी दोनों ही क्षेत्र में पहचान बनायी जा सकती है. यदि आप इस क्षेत्र की चुनौतियों का सामना करने और अपनी कल्पनाओं के आधार पर नयी संरचनाएं बनाने की खूबी रखते हैं, तो नाटा-2017 के माध्यम से इस क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं.

विकास की ओर अग्रसर होते देश में इंफ्रास्ट्रक्चर विकास को लेकर बड़ी-बड़ी परियोजनाएं चलायी जा रही हैं. ऐसे में इमारतें, मॉल, बांध व अन्य परियोजना के निर्माण कार्य व उनकी डिजाइनिंग में रुचि लेनेवाले उम्मीदवारों के लिए आर्किटेक्चर एक संभावनाओं से भरा क्षेत्र बन कर उभरा है. 

यदि आप भी इस क्षेत्र में कैरियर बनाने की इच्छा रखते हैं, तो काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर द्वारा आयोजित की जानेवाली परीक्षा ‘नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर’ (नाटा) के लिए आवेदन कर सकते हैं. नाटा का उद्देश्य इस क्षेत्र की मांग के अनुसार उम्मीदवार की कलात्मक चित्रण एवं स्थापत्य कला को परखना है. परीक्षा में प्राप्त स्कोर के अनुसार ही विभिन्न संस्थान उम्मीदवारों को अपने यहां के आर्किटेक्चर कोर्स में दाखिला देते हैं. हालांकि, इस परीक्षा को पास कर लेने से ही प्रवेश की गारंटी नहीं हो जाती, उम्मीदवारों को अन्य शर्तों पर भी खरा उतरना पड़ता है.

आवेदन के लिए पात्रता

दसवीं या समकक्ष परीक्षा पास कर चुके छात्र नाटा यानी नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर परीक्षा में बैठ सकते हैं. हालांकि, इस एप्टीट्यूड टेस्ट को पास करनेवाले वे छात्र ही बीआर्क प्रोग्राम में प्रवेश लेने के पात्र हैं, जिन्होंने गणित विषय के साथ न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक से बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण की है. नाटा में प्राप्त स्कोर परीक्षा में बैठनेवाले वर्ष से दो साल तक मान्य होता है. छात्र नाटा परीक्षा पास करने के बाद आनेवाले दो वर्षों में आर्किटेक्चर कोर्स में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकता है. उम्मीदवार की आयु 31 जुलाई, 2017 के आधार पर 17 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए. 

परीक्षा पैटर्न में बदलाव

ऑफलाइन आयोजित होनेवाली नाटा परीक्षा 2017 को दो भागों में बांटा गया है. दोनों भागों के प्रश्नों को हल करने के लिए उम्मीदवारों को 90-90 मिनट का समय दिया जायेगा. परीक्षा का प्रथम भाग 120 अंकों का होगा, जिसमें मैथमेटिक्स व जनरल एप्टीट्यूड के 30-30 प्रश्न पूछे जायेंगे. वहीं दूसरे भाग में ड्राइंग और अवलोकन कौशल से संबंधित प्रश्न (पेपर और पेंसिल बेस्ड) होंगे, इन प्रश्नों के लिए 80 अंक निर्धारित किये गये हैं. प्रश्नों का माध्यम सिर्फ अंगरेजी होगा.

पाठ्यक्रम को समझना है जरूरी

नाटा परीक्षा-2017 के सिलेबस को तीन भागों-मैथमेटिक्स, जनरल एप्टीट्यूड और ड्राइंग में बांटा गया है. तीनों विषयों का पाठ्यक्रम इस प्रकार है-

मैथमेटिक्स : एलजेब्रा, कांप्लेक्स नंबर्स, क्वाड्रेटिक इक्वेशंस, मैट्रिक्स, बायोनॉमियल थ्योरम, ट्रिग्नोमेट्री, को-ऑर्डिनेट जियोमेट्री (2डी और 3डी), डिफरेंशियल कैल्कुलस, इंटीग्रल कैल्कुलस, डिफरेंशियल इक्वेशंस, एप्लीकेशन आॅफ कैल्कुलस, वेक्टर्स, सेट्स, रिलेशंस एंड मैपिंग, परम्युटेशन एंड काॅम्बिनेशन, स्टेटिस्टिक्स एंड प्रोबेबिलिटी.

जनरल एप्टीट्यूड : वस्तुओं, वास्तुकला और निर्माण, पर्यावरण से संबंधित बनावट, सचित्र रचनाओं की व्याख्या, दो आयामी चित्र से तीन आयामी वस्तुओं की विजुलाइजिंग, विश्लेषणात्मक तर्क, राष्ट्रीय/ अंतरराष्ट्रीय आर्किटेक्ट और उनकी कृतियों के प्रति जागरूकता एवं मानसिक क्षमता (विजुअल, न्यूमेरिकल और वर्बल), 3डी वस्तुओं के विभिन्न पक्षों की विजुलाइजिंग.

ड्राइंग टेस्ट : ड्राइंग टेस्ट के दौरान उम्मीदवार के दी हुई थीम/ ऑब्जेक्ट की तसवीर को कागज पर उकेरनी की कला का आकलन किया जायेगा. विषयों के सिलेबस के बारे में विस्तार से जानने के लिए अधिसूचना देखें.

अब ऑफलाइन होगी यह परीक्षा

बीआर्क पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आयोजित की जानेवाली नाटा परीक्षा को अब काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर ने ऑनलाइन के बजाय ऑफलाइन आयोजित करने का फैसला किया है. काउंसिल के अध्यक्ष बिस्वरंजन नायक के अनुसार वर्ष 2006 से यह परीक्षा ऑनलाइन आयोजित की जा रही थी, लेकिन इसमें काफी समय लगता था. अभी तक ऑनलाइन आयोजित की जानेवाली यह परीक्षा अप्रैल से अगस्त तक पांच महीने चलती थी. पांच महीने तक चलनेवाली ऑनलाइन परीक्षा में प्रश्नों की पुनरावृत्ति होने की संभावना भी रहती थी, जिसके चलते शैक्षणिक वर्ष 2017-2018 में पूरे देश में नाटा परीक्षा एक ही दिन 16 अप्रैल, 2017 को ऑफलाइन आयोजित कराये जाने का फैसला किया गया है. यह परीक्षा देशभर में 70 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जायेगी.

महत्वपूर्ण जानकारी

आवेदन तिथि : 4 जनवरी से 2 फरवरी, 2017 तक

आवेदन शुल्क : 1250 रुपये.

वेबसाइट : http://www.nata.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरा जा सकता है.

अन्य जानकारी के लिए देखें : http://www.nata.in/NATA%202017%20Brochure.pdf

कैरियर की संभावनाएं

आर्किटेक्ट्स के लिए प्राइवेट व पब्लिक दोनों ही सेक्टर में आगे बढ़ने की संभावनाएं हैं. एक आर्किटेक्ट पब्लिक सेक्टर में जहां लोक निर्माण, सिंचाई, स्वास्थ्य जैसे विभागों में काम कर सकता है, वहीं सरकारी सेक्टर में आर्कियोलॉजिकल डिपार्टमेंट, मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस, डिपॉर्टमेंट ऑफ रेलवे, पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्स, नेशनल बिल्डिंग ऑर्गनाइजेशन, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग ऑर्गनाइजेशन, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अर्बन अफेयर्स, नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन, सिटी डेवलपमेंट अथॉरिटी आदि में रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकता है. 

यदि आप आर्किटेक्ट को पेशे के तौर पर नहीं अपनाना चाहते, तो इंजीनियरिंग व आर्किटेक्चर कॉलेजों में अध्यापन का विकल्प भी अपना सकते हैं. आप चाहें तो बतौर आर्किटेक्ट अपनी सलाहकार फर्म स्थापित कर सकते हैं या कांट्रेक्टर के तौर पर भी काम कर सकते हैं. इस क्षेत्र से जुड़े प्रोफेशनल्स, जो स्वतंत्र रूप से कार्य करना चाहते हैं या सरकारी नौकरी करना चाहते हैं, उन्हें काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर (सीओए) में अपना रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है. इसके अलावा, लोकल एजेंसी, स्टेट डिपार्टमेंट, हाउसिंग में भी आप नौकरी की तलाश कर सकते हैं.