Tuesday, August 21, 2018
इंजीनियरिंग

क्वेश्चन एनालिसिस के आधार पर जेइइ एडवांस्ड पर करें फोकस

क्वेश्चन एनालिसिस के आधार पर जेइइ एडवांस्ड पर करें फोकस

 

जेइइ एडवांस्ड और उसके माध्यम से आइआइटी में प्रवेश सभी इंजीनियरिंग प्रतिभागियों का प्रथम लक्ष्य होता है. 11 हजार सीट के लिए फर्स्ट लेवल जेइइ मेन में लगभग 12 लाख विद्यार्थी शामिल होंगे. इसमें 2.24 हजार परीक्षार्थियों को जेइइ एडवांस्ड में बैठने का मौका मिलेगा.

दो पेपर की होती है परीक्षा
जेइइ एडवांस्ड की परीक्षा दो पेपर में ली जाती है. 2017 में जेइइ एडवांस्ड परीक्षा 366 अंकों की हुई थी़. इसमें पेपर एक और दो में 54-54 सवाल थे. निश्चित रूप से सफलता के लिए नियमित और अथक मेहनत की जरूरत है, लेकिन जब तक आप एनालिसिस आधारित तैयारी नहीं करते हैं, तो सफलता पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. इस रिपोर्ट में फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ्स के सवालों को विश्लेषण किया गया है़. इसके आधार पर आप अपनी तैयारी को मुकम्मल कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें 
सोनोग्राफी में भी है करियर

परीक्षा पैटर्न
विषय       पेपर 01 में     पेपर 02 में      पेपर 01     पेपर 02
             कुल प्रश्न      कुल प्रश्न     कुल अंक    कुल अंक

फिजिक्स    18             18               61             61

केमिस्ट्री   18             18                61            61

मैथ्स        18              18                61            61

कुल          54            54                 183         183

फिजिक्स एनालिसिस

टॉपिक                       प्रश्न संख्या     अंक         वैटेज

इलेक्ट्रो डायनामिक्स          12            42        34.33%

मैकेनिक्स                         11            36        29.51%

हीट एंड थर्मोडायनामिक्स      05           17       13.93%

ऑप्टिक्स                         03            11        9.02%

मॉडर्न फिजिक्स                 3              9        7.38%

एसएचएम एंड वेव्स              02           07        5.74%

कुल                               36           122     100%

केमिस्ट्री एनालिसिस
टॉपिक                          प्रश्न संख्या   अंक      वैटेज
फिजिकल केमिस्ट्री            14           47       38.52
आॅर्गेनिक केमिस्ट्री             12           40       32.78
इनऑर्गेनिक केमिस्ट्री         10           35       28.6
कुल                               36          122      100%
मैथ्स एनालिसिस
टॉपिक                  प्रश्न संख्या   अंक     वैटेज

डिफरेंशियल कैलकुलस   07          24    19.67%

इंटीग्रल कैलकुलस       06           22    18.03%

कोआॅर्डिनेट ज्योमेट्री     06           20    16.39%

मैट्रिक्स एंड डिटर्मिनेंट्स 04         14    11.48%

वेक्टर एंड 3 डी            03          09     7.38%

प्रोबेबिलिटी                 02         07     5.74%

परमुटेशन एंड कॉम्बिनेशन 02         06     4.92%

क्वाड्रिटिक इक्वेशन        02        06     4.92%

 कांप्लेक्स नंबर               01        04     3.28%

ट्रिग्नोमेट्री                  01        04     3.28%

अलजेब्रा                     01        03     2.46%

सीक्वेंस एंड सीरीज          01        03     2.46%

कुल                            36        122   100%

यह भी पढ़ें 
केंद्रीय विश्वविद्यालय, झारखंड में होगी नियुक्ति, जल्द कीजिए आवेदन

एक्सपर्ट टिप्स
साइकोगर ाफिक सोसाइटी, रांची के पर मुख  विकास कुमार ने बताया कि  तीनों विषय पर सामान रूप से ध्यान दें. किस पर कितना देना है. इसके लिए चैप्टर के वेटेज को समझें और अपनी क्षमता अनुसार रिवीजन स्ट्रेटजी बनायें.

हर विद्यार्थी का एक विषय पर कमांड रहता है और एक विषय में ज्यादा चुनौती.

जेइइ एडवांस्ड की परीक्षा के दिन कोई एक विषय खराब जाये, तो विचलित नहीं होना है. क्योंकि कट ऑफ का स्वरूप ऐसा है कि दिक्कत नहीं होती है.

जेइइ एडवांस्ड क्वालिफाइंग कट ऑफ सिर्फ एक न्यूनतम आधार है. लक्ष्य उससे ऊपर होना चाहिए और केटेगरी वाइज इसे समझाना होगा.

कंप्यूटर साइंस में टॉप फाइव आइआइटी के लिए आॅल इंडिया रैंक 300 के अंदर , टॉप टेन के लिए 1000 के अंदर और किसी भी आइआइटी के लिए टॉप 5000 का लक्ष्य रखें.

ऑनलाइन प्रैक्टिस जरूर करें.

अपने संस्थान की टेस्ट सीरीज को पूरी गंभीरता से लें.

जेइइ एडवांस्ड पर पूरा फोकस करें पर जेइइ मेन में भी अच्छा करने को भी प्राथमिकता दें.

हर प्रकार की नकारात्मकता और अति उत्साह से बचें.

यह भी पढ़ें 
मार्च में होंगी सीबीएसइ की 10-12वीं बोर्ड की परीक्षाएं