Sunday, September 24, 2017
इंजीनियरिंग

इंजीनियरिंग कॉलेजों की खाली सीटों को भरने के लिए AICTE कॉलेजों को करेगा मर्ज

इंजीनियरिंग कॉलेजों की खाली सीटों को भरने के लिए AICTE कॉलेजों को करेगा मर्ज

 

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE)  इंजीनियरिंग कॉलेजों में खाली पड़ी सीटों को भरने के लिए कदम उठाने जा रही है. इसके तहत दो इंजीनियरिंग कॉलेजों को एक साथ मर्ज करने पर विचार कर रही है. AICTE ने ये फैसला लगातार साल दर साल 30 फीसदी से भी कम सीटें भरने की वजह से लिया है.

527 इंजीनियरिंग कॉलेज हो चुके हैं बंद

एआईसीटीई के मुताबिक अगले सत्र से 800 कॉलेजों को बंद करने की योजना है. आपको बता दें कि पिछले 5 सालों में 4,633 कोर्सेज के लगभग 527 इंजीनियरिंग कॉलेज बंद किए जा चुके हैं. केवल महाराष्ट्र में पिछले 5 सालों में 921 कॉलेज बंद हुए हैं. AICTE ने साफ-साफ कहा है कि यदि किसी कॉलेज में मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं और पिछले 5 सालों में 30 % से कम दाखिले हुए हैं, तो वैसे कॉलेज को चलाए रखने की कोई जरूरत नहीं है.