Sunday, September 24, 2017
बोर्ड / यूनिवर्सिटीज़

जेनेटिक इंजीनियरिंग से जीवन के विकास की तफ्तीश

जेनेटिक इंजीनियरिंग से जीवन के विकास की तफ्तीश
देश में बायोटेक इंडस्ट्री काफी तेजी से आगे बढ़ रही है, ऐसे में बायोटेक्नोलॉजी और इससे जुड़े क्षेत्रों से आनेवाले प्रोफेशनल्स के लिए नये-नये मौके आ रहे हैं. जेनेटिक्स या जेनेटिक इंजीनियरिंग प्रोफेशनल्स के लिए इंडस्ट्री के अलावा रिसर्च व एकेडमिक्स में कैरियर के बेहतर विकल्प बन रहे हैं...
 
समस्त जीवों में कोशिका शरीर की आधारभूत संरचना होती है. पेड़-पौधों से लेकर जीव-जंतुओं और मनुष्यों में कोशिका संरचना और उसकी कार्यपद्धति के आधार पर उसके गुण तय होते हैं. सामान्य से लेकर बेहद जटिल जेनेटिक कोड ही जीव के लक्षणों को निर्धारित करते हैं. दरअसल, जेनेटिक्स या जेनेटिक इंजीनियरिंग जीन के गुणों और लक्षणों या कहें जीवों में जैवकीय परिवर्तन के अध्ययन से जुड़ा हुआ विज्ञान है. बायोटेक्नोलॉजी की यह शाखा कोशिका यानी सेल की संरचना और कार्यप्रणाली के व्यापक अध्ययन पर आधारित है. कोशिकाओं के विकास में डीएनए की भूमिका अहम होती है. साथ ही डीएनए अनुवांशिक गुणों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ट्रांसफर करता है. जेनेटिक मॉडिफिकेशन, स्पेशीज हाइब्रिडाइजेशन, इ-विट्रो फर्टिलाइजेशन जैसे तकनीकें जेनेटिक इंजीनियरिंग या जेनेटिक्स से जुड़े पेशेवरों और शोधकर्ताओं के दिमाग की उपज है.
 
 जेनेटिक इंजीनियरिंग एक शोध आधारित क्षेत्र है, जिसका प्रयोग आज मेडिसिन से लेकर कृषि और पर्यावरण आदि क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर हो रहा है. जेनेटिक इंजीनियरिंग आर्टिफिशियल तकनीकों से डीएनए संरचना में बदलाव लाने की विधा है. डीएनए की संरचना में बदलाव और डीएनए के प्रतिरोपण से नयी किस्मों या नयी प्रजातियों के विकास के पीछे बड़ा उद्देश्य होता है.
 
पढ़ाई लिए क्या है जरूरी
 
इस क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल करने के लिए आपका जेनेटिक्स या इससे जुड़े क्षेत्रों जैसे- बायोटेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, मॉलेकुलर बायोलॉजी आदि में ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट होना जरूरी है. बायोटेक्नोलॉजी में यूजी या पीजी की पढ़ाई के दौरान जेनेटिक्स में स्पेशलाइजेशन किया जा सकता है. कुछ प्रतिष्ठित संस्थान बीटेक या बीटेक-एमटेक इंटीग्रेटेड कोर्स में प्रवेश का मौका देते हैं. जेएनयू द्वारा अखिल भारतीय स्तर पर एमएससी बायोटेक्नोलॉजी के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है.
 
कहां- कहां मिलेंगे मौके
 
बायोटेक्नोलॉजी और जेनेटिक्स के क्षेत्र में आपके लिए देश-विदेश में भरपूर मौके हैं. रिसर्च लैब, यूनिवर्सिटी में ऐसे प्रोफेशनल की काफी मांग है. इसके अलावा आप फार्मास्युटिकल्स व मेडिकल इंडस्ट्री, एग्रीकल्चर, एफएमसीजी, फूड प्रोसेसिंग, बायो-एग्रीकल्चर और टीचिंग व एकेडमिक्स में उम्दा कैरियर बना सकते हैं.